सर्पदंश आहार

 जहरीले सांपों को देखते ही लोग सिहर उठते हैं। लेकिन बिहार का 23 वर्षीय युवक मोहम्मद करीम मंसूरी सांप को देखते ही ख़ुशी से पागल हो उठता है। सर्पदंश के बगैर मोहम्मद करीम अपनी जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकता। सांपों के विष को अपने जिस्म में उतारने के बाद ही उसे चैन की नींद आती है।
    सुबह होते ही वह चाय या नाश्ता की ख्वाहिश जाहिर नहीं करता। बिस्तर से उठने के बाद वह गाँव के आस पास उगी झाड़ियों में जहरीले सांपों की तलाश में लग जाता है। पिछले एक दशक से उसकी दिनचर्या पूरी तरह विषमय हो गई है। अक्सर वह अपनी गर्दन में जहरीला सांप लपेटे रखता है। उसकी सबसे बड़ी यह समस्या यही है कि आबादी पहले बहुत घट गई है।


लेखक परिचय :
संपादक
फो.नं. --
ई-मेल - idea.nasreen06@gmail.com
इस अंक में ...