क्या आप जानते हैं ?

(1) 99 का फेर:-

भाग्यशाली नम्बरों के जादू से थाईलैंड के परिवहन मंत्री भी नहीं बच सके। उन्होंने एक नीलामी में लकी नम्बर प्लेट के लिए 95 हजार डालर यानि करीब पचास लाख रुपए अदा किये। परिवहन मंत्री सूरिया जुंगरूंगरियांकित ने 9999 नम्बर की रजिस्ट्रेशन प्लेट के लिए थाईलैंड की मुद्रा में 40 लाख बहत अदा किए क्योंकि थाईलैंड में से सबसे सौभाग्यशाली नंबर माना जाता है। उन्होंने ये नंबर 301 विशेष नंबरों में से चुने और अपने बेटे को भेंट कर दिया। नीलामी तीन दिन तक चली और इसमें लोगों ने इंटरनेट से भी हिस्सा लिया।

(2) कददू तोप:-

लड़ाई के मैदान में तहलका मचाने वाले तोप गोले छोड़ने के बारे में आपने सुना होगा। लेकिन तहलका मचाने वाली तोप कददू छोड़ने लगे तो क्या होगा? ऐसी मजेदार कददू तोप को बनाने में पेरिस में एक किसान वेपने सेबेट ने सफलता हासिल की है। यह तोप 3,000 फुट की दूरी तक कददू से निशाना लगा सकती है।

(3) धैर्य का रिकार्ड:-

अस्पताल जाना किसी को पसंद नहीं है। मरीज को रोग से ज्यादा पीड़ा वहाँ की लम्बी कतारें पहुँचाती है। बिस्तर उपलब्ध न होने की स्थिति में रोगी के धीरज की परीक्षा होती है। ऐसी स्थिति में उसे बिस्तर की प्रतीक्षा में कई घंटे अस्पताल ट्राली में बिताने पड़ते हैं। ऐसा ही रिकार्ड का विश्व रिकार्ड 77 घंटे 30 मिनट ब्रिटेन के टोनी कान्लिस लन्दन का है।

(4) मछली से तौबा:-

मछली खाने वाले सावधान। बनाते समय इसकी सोंधी महक को किसी के लिए दुर्गन्ध न बनने दें, नहीं तो यह आपके पल्ले से भारी धनराशि झाड़ने का सबक बन सकता है। टोकियो (जापान) में एक वाणिज्य परिसर के मालिक को उसी इमारत में मछली रेस्तरां खोलने की मंजूरी देने के कारण अपने ही एक किरायेदार को मुआवजा देना पड़ा है, क्योंकि रेस्तरां के खुलने के बाद मछली की गंध के कारण उसके कपड़े के स्टोर में ग्राहकों की भारी कमी आई है।

(5) प्लीज :-

आस्ट्रेलिया के एक सांसद ने साथी सांसदों से अपील की कि वे कम से कम संसद में तो अंग्रेजी शब्द 'प्लीज' का उपयोग न करें। उनका कहना है की इस शब्द का अर्थ भीख मांगना होता है। आस्ट्रेलिया की संसद हाउस ऑफ असेम्बली में एक प्रश्नकाल के बाद एक प्रश्न के दौरान उन्होंने शिष्टता दर्शाने के लिए प्लीज का प्रयोग किया था। इस पर स्पीकर का कहना था कि प्लीज का मतलब तो भीख माँगना होता है।


लेखक परिचय :
संपादक
फो.नं. --
ई-मेल - idea.nasreen06@gmail.com
इस अंक में ...