प्रेरक प्रसंग

प्रसन्नता पहले से निर्मित कोई चीज नहीं है..ये आप ही के कर्मों से आती है.
दलाई लामा

व्यक्ति अपने विचारों से निर्मित एक प्राणी है
महात्मा गाँधी

हम जो सोचते हैं, वही बन जाते हैं |
भगवान् बुद्ध

आँख के बदले में आँख पूरे विश्व को अँधा बना देगी |
महात्मा गाँधी

यदि आप सच कहते हैं तो आपको कुछ भी याद रखने की जरुरत नहीं |
मार्क ट्वेन

छोटी चीजों में वफादार रहिये, क्योंकि इही में आपकी शक्ति निहित है |
मदर टेरेसा

भले ही आप कपडे पहनने में लापरवाह रहिये पर अपनी आत्मा को दुरुस्त रखिये.
मार्क ट्वेन


लेखक परिचय :
मोहम्मद इमरान खान
फो.नं. -+91 9785984283
ई-मेल - imrankhanonnet@gmail.com
इस अंक में ...