सुविचार

आशावाद ही वह भरोसा है, जो हमें सफलता की ओर ले जाता है। आशा और हौसले के बिना सफलता पाना नामुमकिन है।

जीवन की विडंबना यह नहीं है कि आप अपने लक्ष्य तक नहीं पहुचे ,बल्कि यह है की पहुँचने के लिए आपके पास कोई लक्ष्य ही नहीं था 

यदि बुद्धिमानी और प्रगति जैसी कोई बात है तो वह एकाग्रता है। इससे खराब स्थिति शक्तियों को बिखेर देती है।

अगर रेत पर अपने कदमों के निशां छोड़ना चाहते हैं तो एक ही उपाय है कि कदम पीछे मत खींचिए।
-डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम

मनुष्य का दिमाग ही सब कुछ है, जो वह सोचता है वही वह बनता है।

सफल योद्धा वह साधारण व्यक्ति है, जिसके पास लेज़र जैसा फोकस है।
- ब्रूस ली

धन से आज तक किसी को ख़ुशी नहीं मिली और न ही मिलगी, जितना अधिक व्यक्ति के पास धन होता है, वह उससे कहीं अधिक चाहता है। धन रिक्त स्थान को भरने के बजाय शून्यता को पैदा करता है।
- बेंजामिन फ्रैंकलिन

क्रोध से शुरू होने वाली हर बात लज्जा पर समाप्त होती है।
- बेंजामिन फ्रेंकलिन

 

संकलन- लक्ष्मी जैन


लेखक परिचय :
लक्ष्मी जैन
फो.नं. ---
ई-मेल - --
इस अंक में ...