ज्ञान मंजरी रचना
सिक्के की उछलकूद

एक बड़ी बोतल को कुछ देर बर्फ के टुकड़ों के बीच रख कर ठंडी कर लें। अब एक रुपए के सिक्के को बोतल के मुँह पर रखकर उसके कोर पर चारों ओर पानी लगा दें जिससे बोतल सीलबन्द हो जाए।

अब बोतल के चारों ओर रुमाल लपेट कर बोतल को दोनों हाथों से कस कर पकड़ लें। उसे कोई पंद्रह बीस मिनट तक पकड़े रहें। सिक्का उछलने कूदने लगेगी।

रुमाल और हथेलियों को हटा लेने पर सिक्का उछल कूद बंद कर देगी और गिर पड़ेगी। इसका कारण यह है कि रुमाल से लपेट देने पर और हथेलियों से कस कर पकड़ने के कारण बोतल के भीतर ठंडी हवा को गर्मी पहुंचेगी।

गर्मी से हवा बढ़ती है, वह बोतल के मुँह से निकलने की कोशिश करेगी और सिक्के को ऊपर फेकेंगी। इस तरह सिक्का उछालना-कूदना शुरू कर देता है। जिसे देखकर आश्चर्य लगता है।

जरुरी सामान -

  1. एक खाली बोतल
  2. एक सिक्का
  3. एक रुमाल और
  4. बर्फ के कुछ टुकड़े

लेखक परिचय :
संपादक
फो.नं. --
ई-मेल - idea.nasreen06@gmail.com
इस अंक में ...